WHO की ओमिक्रॉन को लेकर चेतावनी: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर जारी की चेतावनी, ओमिक्रॉन को नजरअंदाज नहीं करें जनता

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर चेतावनी जारी की है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक दुनियाभर में कोरोना ने सुनामी ला दी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर जारी की चेतावनी, ओमिक्रॉन को नजरअंदाज नहीं करें जनता


जयपुर। 
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर चेतावनी जारी की है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक दुनियाभर में कोरोना ने सुनामी ला दी है। 
इससे दुनियाभर के हेल्थ सिस्टम पर बहुत अधिक दबाव पड़ रहा है। संगठन के चीफ टेड्रोस ने प्रेसवार्ता में कहा कि अब ओमिक्रॉन वैरिएंट से भी दुनियाभर में लोगों की जान जा रही है। 
इस वैरिएंट को नजर अंदाज नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि कुछ रिपोर्ट में इसे कम घातक बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन से लोगों की जान तो जा रही है, लेकिन वैक्सीनेशन की दोनों डोज वालों को यह कम नुकसान पहुंचा रहा है। 
इससे साफ है कि इससे बचाव के लिए वैक्सीनेशन जरूरी तो है,लेकिन इसके साथ ही सावधानी भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन से रिकॉर्ड संख्या में लोग संक्रमित हो रहे है, यह खतरनाक है। 
यह संक्रमण कोरोना के डेल्टा से भी तेजी से फैल रहा है। इससे दुनियाभर के हेल्थ सिस्टम को भारी परेशानी का सामना उठाना पड़ रहा है।


 डब्ल्यूएचओ के चीफ ने कहा कि दुनियाभर में वैक्सीनेशन के सही तरीके से डिस्ट्रीब्यूशन होना आवश्यक है। कुछ देशों में जहां जरूरत के मुताबिक वैक्सीन एवं अन्य आवश्यक दवा तक नहीं पहुंच पाई,वहीं कुछ के पास जरूरत से ज्यादा थी। 
चीफ ने बताया थी हमारा लक्ष्य था कि दिसंबर 2021 तक विश्व की 40 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन दी जाए, लेकिन 194 देशों में से  92 देश में तय टारगेट से चूक गए। 
इसका बड़ा कारण वैक्सीन की कमी थी। अब डब्ल्यूएचओ का लक्ष्य है कि जून 2022 तक विश्व की 70 प्रतिशत जनता को वैक्सीनेशन दिया जाए, लेकिन वैक्सीन रोल आउट बिगड़ने से 109 देश फिर से इस टारगेट से पीछे रह जाएंगे। 
उन्होंने कहा कि अब भी कई देशों में लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक तक नहीं मिल पाई। डब्ल्यूएचओ की एक अधिकारी ने कहा कि विश्व में लोग कितनी लापरवाही बरत रहे है। 
फेस मास्क दिखाने के लिए पहन रहे है। कोरोना के आंकड़ों पर नजर डाले तो दुनियाभर में पिछले 24 घंटों में 25 लाख से अधिक केस सामने आए है। 

Must Read: स्वास्थ्य मंत्री ने सहयोगी महिला को किया किस, विरोध में सड़कों पर आए लोग, दिया इस्तीफा

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :