विश्व: मेक्सिकन राष्ट्रपति ने अमेरिकी आव्रजन नीति को समाप्त करने का किया समर्थन

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, लोपेज ओब्रेडोर ने जून में अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला दिया, जिसमें राष्ट्रपति जो बाइडेन के पहल को समाप्त करने के कदम पर मुहर लगा दी गई, जिसे डोनाल्ड ट्रम्प ने लागू किया था।

मेक्सिकन राष्ट्रपति ने अमेरिकी आव्रजन नीति को समाप्त करने का किया समर्थन
Mexican Prez backs ending US immigration policy
मेक्सिको सिटी, 25 अगस्त (आईएएनएस)। मेक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्रेडोर ने विवादास्पद रिमेन इन मैक्सिको नीति को समाप्त करने के अमेरिका के फैसले का समर्थन किया है। इसके तहत सभी देशों के शरणार्थियों को मेक्सिको सीमा पर रूकने के लिए कहा जाता था जबकि उनके मामले अमेरिका में सुने जा रहे थे। यह जानकारी उन्होंने खुद दी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, लोपेज ओब्रेडोर ने जून में अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला दिया, जिसमें राष्ट्रपति जो बाइडेन के पहल को समाप्त करने के कदम पर मुहर लगा दी गई, जिसे डोनाल्ड ट्रम्प ने लागू किया था।

लोपेज ओब्रेडोर ने संवाददाताओं से कहा, अब जब अदालत ने फैसला किया है कि जो लोग अमेरिका में शरण चाहते हैं वे अमेरिका में इंतजार कर सकते हैं। हम इसे एक अच्छी पहल के रूप में देख रहे हैं।

उन्होंने कहा, यह अमेरिकी सरकार का आंतरिक निर्णय है। हमने कभी भी खुद को तथाकथित तीसरे देश, एक प्रवासी शिविर में बदलना स्वीकार नहीं किया, जब तक कि अमेरिका में चीजों का समाधान नहीं हो जाता।

मेक्सिको और अमेरिका हाल के वर्षों में एक अभूतपूर्व आव्रजन (इमिग्रेशन) संकट का सामना कर रहे हैं क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण गरीबी और हिंसा ने काम की तलाश में हजारों मध्य अमेरिकी लोगों को अमेरिका जाने को मजबूर किया है।

1 अक्टूबर, 2020 से 30 सितंबर, 2021 के बीच मेक्सिको की सीमा पर अमेरिका द्वारा हिरासत में लिए गए प्रवासियों की संख्या रिकॉर्ड ऊंचाई 1,734,686 तक पहुंच गई।

इस बीच, सरकारी आंकड़ों के अनुसार, मेक्सिको ने 2021 में 114,000 से अधिक अवैध अप्रवासियों को निर्वासित किया है, और अकेले इस साल 1 जनवरी से 13 अप्रैल के बीच 115,379 को हिरासत में लिया है।

--आईएएनएस

पीटी/एसकेपी

Must Read: क्वांटास को कोविड-19 से तीसरी बार हुआ एक अरब डॉलर से अधिक का नुकसान

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :