भारत: गरीबी से समृद्धी की ओर बढ़ती चीन के हेपेई की जंगतिंग काउंटी

1984 की शुरूआत में जंगतिंग काउंटी की कम्युनिस्ट पार्टी कमेटी के महासचिव शी चिनफिंग ने यहां की खास भौगोलिक स्थितियों के मुताबिक अर्ध उपनगरीय अर्थव्यवस्था का विकास करने का निर्णय लिया और कई ठोस कदम उठाए।

गरीबी से समृद्धी की ओर बढ़ती चीन के हेपेई की जंगतिंग काउंटी
China Jangting Countee

बीजिंग | पिछली शताब्दी के 70 दशक में चीन के हपेई प्रांत की जंगतिंग काउंटी उत्तर चीन में उच्च अनाज उत्पादन वाली काउंटी थी, जहां हरेक हेक्टर के अनाज का उत्पादन 7.5 टन से ज्यादा पहुंचता था। लेकिन चूंकि स्थानीय लोग सिर्फ अनाज उगाते थे, इसलिए उनकी औसत आमदनी ऊंची नहीं है। 1981 में जंगतिंग काउंटी में वार्षिक औसत आमदनी केवल 140 चीनी युआन था।

1984 की शुरूआत में जंगतिंग काउंटी की कम्युनिस्ट पार्टी कमेटी के महासचिव शी चिनफिंग ने यहां की खास भौगोलिक स्थितियों के मुताबिक अर्ध उपनगरीय अर्थव्यवस्था का विकास करने का निर्णय लिया और कई ठोस कदम उठाए।

जंगतिंग की स्थानीय सरकार ने किसानों को सब्जियां उगाने को प्रेरित किया, सब्जियों के कई अड्डों का निर्माण कर उत्तरी चीन में सर्दियों के मौसम में हरी सब्जियां उगाने की कठिनाई को दूर किया। साथ ही, स्थानीय किसानों ने धान की कटाई के बाद के भूसे को इकट्ठा करके पुआल के पर्दे जैसे पुआल के उत्पाद बनाने का कौशल सीखा।

ये भी पढ़ें:- Asia Cup 2022: 28 अगस्त को भारत के साथ मुकाबले से पहले पाक टीम को बड़ा झटका, तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी बाहर

चूंकि जंगतिंग शहर और गांव के बीच स्थित है, इसलिए स्थानीय लोगों ने रासायनिक कच्ची सामग्रियों और मशीनरी उपकरणों का उत्पादन करने और बिजली उपकरणों की मरम्मत और रेस्तरां आदि सेवा उद्योगों का विकास भी किया। इस आधार पर जंगतिंग काउंटी में कई पारिवारिक कारखाने और टाउनशिप उद्यम उभरते हैं। लोगों के घरों में वॉशिंग मशीन, टीवी श्रृंखला, सिलाई मशीन और रेडियो उपलब्ध थे, जो पिछली शताब्दी के 80 के दशक में चीन में समृद्धि का प्रतीक था।

ये भी पढ़ें:- सोनम कपूर के घर आया नन्हा सा बाल गोपाल, अनिल कपूर बने नाना

आंकड़े बताते हैं कि 1981 से 1983 के बीच जब शी चिनफिंग जंगतिंग में काम करते थे, स्थानीय उद्योग और कृषि उत्पादकों के कुल मूल्य में 75 प्रतिशत का इजाफा हुआ था। स्थानीय किसानों के जीवन स्तर में उन्नति दर देश की औसत वृद्धि दर से अधिक रही थी।

15 नवम्बर, 2012 को नव नियुक्त हुए चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने एक पत्रकार सम्मेलन में कहा कि सुन्दर जीवन के प्रति आम लोगों की अभिलाषा हमारे संघर्ष का लक्ष्य है। आम लोगों को और बेहतर जीवन बिताना बाद में शी चिनफिंग के देश के सभी काम करने का आधार है।

Must Read: Bridges of Friendship के तहत भारतीय नौसेना के प्रयासों से आईएनएस सुदर्शनी की खाड़ी क्षेत्र में तैनाती

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :