भारत: पीएमबीजेपी के एक ब्रांड के तहत उर्वरक बेचने के सरकार के फैसले के खिलाफ कांग्रेस, बोला हमला

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्विटर पर पोस्ट किया, प्रचार के लिए बीजेपी जो कुछ भी करती है, वह अब हमें हैरान नहीं करता। सभी उर्वरकों को एक ब्रांड के तहत बेचने का निर्णय पीएम-बीजेपी (भारतीय जनुवरक परियोजना) का हिस्सा है, वन नेशन, वन मैन, वन फर्टिलाइजर!

पीएमबीजेपी के एक ब्रांड के तहत उर्वरक बेचने के सरकार के फैसले के खिलाफ कांग्रेस, बोला हमला
Cong slams govt decision to sell fertiliser under one brand PMBJP
नई दिल्ली, 25 अगस्त (आईएएनएस)। कांग्रेस ने केंद्र सरकार के प्रधानमंत्री भारतीय जनुर्वरक परियोजना (पीएमबीजेपी) के तहत एक ब्रांड के तहत उर्वरक बेचने के फैसले की आलोचना की है।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्विटर पर पोस्ट किया, प्रचार के लिए बीजेपी जो कुछ भी करती है, वह अब हमें हैरान नहीं करता। सभी उर्वरकों को एक ब्रांड के तहत बेचने का निर्णय पीएम-बीजेपी (भारतीय जनुवरक परियोजना) का हिस्सा है, वन नेशन, वन मैन, वन फर्टिलाइजर!

बुधवार को एक ज्ञापन में, केंद्र सरकार ने कहा कि अब सभी उर्वरक भारत ब्रांड के होंगे। देश में वन नेशन वन फर्टिलाइजर की अवधारणा को साकार करते हुए भारत सरकार के उर्वरक मंत्रालय ने सभी कंपनियों को अपने आदेश जारी किए हैं। जिसके तहत सभी उर्वरक कंपनियों को एक ही नाम से उर्वरक बेचना होगा।

सरकार ने आगे कहा, यूरिया, डीएपी, एमओपी और एनपीके आदि के लिए सिंगल ब्रांड नाम सभी उर्वरक कंपनियों, राज्य व्यापार संस्थाओं और उर्वरक विपणन संस्थाओं के लिए क्रमश: भारत यूरिया, भारत डीएपी, भारत एमओपी और भारत एनपीके होगा। उक्त उर्वरक बोरियों पर उर्वरक सब्सिडी योजना अर्थात पीएमबीजेपी को दर्शाने वाला एक लोगो इस्तेमाल किया जाएगा।

आदेश में कहा गया है कि खाद की बोरी के एक तरफ लोगो प्रिंट किया जाएगा। उर्वरक बैग के दो-तिहाई हिस्से का उपयोग पीएमबीजेपी के साथ नए ब्रांड नाम और लोगो के लिए किया जाएगा और एक तिहाई का उपयोग उर्वरक कंपनी के नाम, लोगो और विभिन्न नियमों और विनियमों में आवश्यक अन्य जानकारी के उपयोग के लिए किया जाएगा।

आगे कहा गया, उर्वरक कंपनियों को सलाह दी जाती है कि वे कृषि और सहकारिता विभाग द्वारा 1985 के तहत जारी मेट्रोलॉजी एक्ट, पैकेज्ड कमोडिटीज एक्ट और ऑर्डर नंबर 1-2/87-फर्ट लॉ दिनांक 09 नवंबर, 1987 एफसीओ के अंतर्गत अन्य नियमों और शर्तों का पालन करें।

वन नेशन वन फर्टिलाइजर अवधारणा के तहत नए बैग 2 अक्टूबर से पेश किए जाएंगे, और कंपनियों को बाजार से पुराने डिजाइन किए बैग को निकालने के लिए 31 दिसंबर तक चार महीने का समय दिया जाएगा।

--आईएएनएस

पीके/एएनएम

Must Read: पंजाब पुलिस ने पिछले एक हफ्ते में 327 ड्रग तस्करों को पकड़ा

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :