केंद्रीय गृह मंत्री शाह का गुजरात दौरा: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नडाबेट बॉर्डर आउट पोस्ट पर सैनिक सम्मेलन का किया संबोधित, जवानों के साथ किया भोजन

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने गुजरात में बनासकांठा जिले के नडाबेट में सीमा दर्शन के लिए नवनिर्मित पर्यटन सुविधाओं का लोकार्पण किया। अमित शाह ने नडाबेट बॉर्डर आउटपोस्ट सैनिक सम्मेलन को संबोधित किया और जवानों के साथ खाना खाया व संवाद भी किया। 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नडाबेट बॉर्डर आउट पोस्ट पर सैनिक सम्मेलन का किया संबोधित, जवानों के साथ किया भोजन

अहमदाबाद, एजेंसी। 
केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने गुजरात में बनासकांठा जिले के नडाबेट में सीमा दर्शन के लिए नवनिर्मित पर्यटन सुविधाओं का लोकार्पण किया। 
अमित शाह ने नडाबेट बॉर्डर आउटपोस्ट सैनिक सम्मेलन को संबोधित किया और जवानों के साथ खाना खाया व संवाद भी किया। 
इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल और सीमा सुरक्षा बल (BSF) केमहानिदेशक सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
इस अवसर पर अपने संबोधन में केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि कोई भी सीमा सुरक्षा बल हो, विशेषकर बीएसएफ़, उसका काम बहुत कठिन होता है। 
रेतीली आंधियां, चिलचिलाती गर्मी, हाड़ कंपा देने वाली ठंड, इन सबके बीच एकाग्रता के साथ जीवनपर्यंत कर्तव्य के मंत्र को साकार करते हुए बीएसएफ़ के जवान देश की 6385 किलोमीटर लंबी सीमा की सुरक्षा कर रहे हैं।
हमारे सीमा सुरक्षा बल के जवान सीमा पर अभेद्य सुरक्षा का सुदर्शन चक्र लिए हुए खड़े हैं, आप सीमाओं की सुरक्षा करते हो इसीलिए सीमाओं पर विकास संभव हो रहा है। 
उन्होंने कहा कि ये तो वो सीमा है जहां बीएसएफ़ और सेना के जवानों ने उत्कृष्ट पराक्रम दिखाया है। लढ़ाई में लगभग 1000 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को पाकिस्तान से छीनकर विजय पताका फहराने का काम बॉर्डर सिक्योरिटी फ़ोर्स ने किया। 
बहुत लंबे समय तक, जब तक समझौता नहीं हुआ, बीएसएफ़ एडमिनिस्ट्रेशन में भी लगी रही और 1965 में 25 बटालियनों के साथ शुरू हुआ ये संगठन, आज 193 बटालियन और 60 आर्टिलरी रेजीमेंट की 2,65,000 जवानों की नफ़री के साथ है। पूरा देश और देश का हर नागरिक मानता है कि ये संगठन और 2,65,000 की ये नफ़री भारत की सुरक्षा की गारंटी है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि कश्मीर घाटी में घुसपैठ रोकनी हो, नॉर्थ-ईस्ट में और कुछ वामपंथी उग्रवाद वाले क्षेत्रों में आंतरिक सुरक्षा को संभालना हो, भारत-बांग्लादेश अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर दोनों देशों के रिश्तों में सौहार्द बनाए रखते हुए देश के सभी हिस्सों की सुरक्षा करनी हो, क्रीक के कठिन क्षेत्र में भी घुटनों तक दलदल में घंटों तक चलकर वहां सजग रहना हो, विश्व में इतनी कठिन परिस्थितियों में काम करने वाला बीएसएफ़ के सिवा कोई और सीमा सुरक्षा बल नहीं होगा।
नडाबेट में सीमा दर्शन कार्यक्रम 
अमित शाह ने कहा कि नडाबेट में सीमा दर्शन कार्यक्रम पर 125 करोड़ रूपए का ख़र्च गुजरात सरकार ने किया है। यहां बीएसएफ़ की वीरगाथाओं को देखकर छोटे-छोटे बच्चे हमारे बॉर्डर गार्डिंग फ़ोर्स के प्रति सम्मान की भावना को संस्कार के रूप में आत्मसात करें।
वे भी निश्चय करें कि देश की सुरक्षा के क्षेत्र में मुझे भी कुछ करना चाहिए, देश की सुरक्षा करने वाले प्रहरी के प्रति उसका सम्मान और संवेदना हमेशा के लिए जागृत हो जाएगी। 
गुजरात सरकार अब ये भी आयोजन करने वाली है कि पांचवी से आठवीं कक्षा तक के हर छात्र के स्कूल के पर्यटन का सेंटर अब ये नडाबेट बनने जा रहा है।


इससे बीएसएफ़ के त्याग, समर्पण, बलिदान और वीरता सबको अपने साथ लेकर वो सिविल सोसायटी में जाएगाऔर जब वह नागरिक बनेगा तब उसके जीवन के अंतिम साल तक यहसम्मान बना रहेगा।
गुजरात सरकार आसपास के क्षेत्र में रहने की सुविधा के लिए भी अच्छी प्लानिंग करने जा रही है और कम से कम 2 दिन बनासकांठा की सरहद पर गुजरात का हर नागरिक बिताए तभी वो सरहद की कठिनाइयों के साथ जुड़ेगा और सरहद को जानने का काम कर पाएगा।
नडाबेट में किया पर्यटन सुविधाओं का लोकार्पण
इससे पहले नडाबेट में सीमा दर्शन के लिए नवनिर्मित पर्यटन सुविधाओं का लोकार्पण करने के बादश्री अमित शाह ने सभी देशवासियों को रामनवमी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रामनवमीं चैत्य नवरात्रि की समाप्ति के साथ ही एक ऐसे व्यक्तित्व का जन्म दिवस भी है जिनका जन्मदिन हजारों सालों से करोड़ों लोग अपने घर में मनाते हैं। 
उन्होंने कहा कि जीवन में हर भूमिका किस प्रकार से निभानी चाहिए उसके लिए मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम का जीवन सर्वश्रेष्ठ आदर्श है। 
भगवान श्री राम इस प्रकार का जीवन जी कर गएजिसमें उन्होने एक शब्द बोले बगैर एक आदर्श बेटे, आदर्श पति, आदर्श राजा और आदर्श सेनापति कीभूमिका किस प्रकार से निभानी चाहिए इसकाएकऐसा सर्वश्रेष्ठ आदर्श प्रस्तुत किया।
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि भारत की कठिन से कठिन सीमाओं की सुरक्षा करने वाले सीमा सुरक्षा बल(BSF) के हमारे जवान जो -40 डिग्री टेंपरेचर से लेकर 45 डिग्री टेंपरेचर वाली सीमाओं पर जान की बाजी लगाकर देश की सुरक्षा करते हैं।


बीएसएफ के कई जवानों ने अपनी जान गवाई है उन सभी को आज यादकर पूरे देश की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि देना चाहता हूं। उन्होने कहा कि मैं आजपूरे देश की जनता की ओर से जीवनपर्यंत कर्तव्य के नारे को चरितार्थ करने वाले बीएसएफ के छोटे से छोटेजवान से लेकर डीजी तक सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद करना चाहता हूं और आपकी वीरताको सैल्यूट भी करना चाहता हूं। 
केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री शाह ने कहा कि यहां पर पर्यटकों के लिए फर्नीचर और इंटीरियर वर्क के साथ तीन आगमन प्लाजा बनाए हैं। विश्राम स्थल बनाए हैं।
500 लोगों की क्षमता वाला ऑडिटोरियम बनाया है, चेंजिंग रूम बनाया है, 22 दुकानें और रेस्टोरेंट बनाए हैं। डेकोरेटिव लाइटिंग होने वाली है और यहां की 30% बिजली सोलर आधारित है, इस प्रकार यहाँ पर आधुनिक सेआधुनिक सेक्टर बनाने का काम किया है।

बच्चों को खेलने की सुविधाएं और आसमान को छूता 100 फुटऊंचा तिरंगा ये सभी यहां आकर्षक के केंद्र बनेंगे। 
यहां पर 6 गैलरियाँ बनी है जो हमें देश की सभी सीमाओंका परिचय कराएँगी। गुजरात के पर्यटन के लिए एक गैलरी व नडाबेट और बनासकांठा के लिए भी एकगैलरी बनाई गई है। यहां पर बीएसएफ की तीनों विंग समुद्री, वायु और आर्टिलरी का परिचय देने वालीएक गैलरी भी होगी।

Must Read: बॉलीवुड अदाकारा शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा पोर्न फिल्म बनाने और सर्कुलेट करने के मामले में गिरफ्तार

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :