सोशल मीडिया की मनमर्जी: फेसबुक ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प का अकाउंट 2 साल के लिए किया सस्पेंड, ट्रम्प ने इसे वोटर्स की बेइज्जती बताया

सोशल मीडिया पर चले आईटी नियमों के बीच आप को बता दें कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति तक का सोशल मीडिया पर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया। सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर फेसबुक ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का अकाउंट दो साल के लिए सस्पेंड कर दिया है।

फेसबुक ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प का अकाउंट 2 साल के लिए किया सस्पेंड, ट्रम्प ने इसे वोटर्स की बेइज्जती बताया

नई दिल्ली।
सोशल मीडिया पर चले आईटी नियमों के बीच आप को बता दें कि अमेरिका (America) के पूर्व राष्ट्रपति तक का सोशल मीडिया पर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया। सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर Facebook ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Former President Donald Trump) का अकाउंट दो साल के लिए सस्पेंड(Suspended) कर दिया है। दो साल का समय 7 जनवरी 2021 से गिना जाएगा। उसी दिन पहली बार ट्रम्प का अकाउंट सस्पेंड किया गया था। Facebook के वाइस प्रेसिडेंट  निक क्लेग (Nick Clegg) ने शुक्रवार को ब्लॉग पोस्ट के जरिए यह जानकारी दी है। Facebook के मुताबिक ट्रम्प अब 7 जनवरी 2023 तक अपना Facebook अकाउंट एक्सेस नहीं कर पाएंगे। यानी नवंबर 2022 में होने वाले मिड टर्म इलेक्शन में भी उन्हें फेसबुक से दूर रहना पड़ेगा। ट्रम्प ने फेसबुक की इस कार्रवाई को उन 7.5 करोड़ लोगों की बेइज्जती बताया है, जिन्होंने 2020 के चुनाव में ट्रम्प को वोट दिया था। ट्रम्प ने कहा है कि उन लोगों को सेंसर कर और चुप कराकर बाहर नहीं किया जा सकता। हम फिर जीतेंगे। हमारा देश इस बेइज्जती को और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकता। Facebook ने कहा है कि एक्सपर्ट से बातचीत कर फैसला लिया जाएगा कि ट्रम्प का अकाउंट कब एक्टिव किया जाए जिससे कि जनता के लिए खतरा नहीं हो। इसके लिए हिंसा और शांतिभंग होने की घटनाओं को ध्यान में रखा जाएगा। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों के बाद 6 जनवरी को अमेरिकी संसद कैपिटल हिल के बाहर हिंसा हुई थी। इस दौरान ट्रम्प पर अपने समर्थकों को भड़काने का आरोप लगा था। इसी के चलते अगले दिन यानी 7 जनवरी को फेसबुक समेत दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स ने ट्रम्प के खिलाफ एक्शन लिया था। फेसबुक की ही कंपनी इंस्टाग्राम और गूगल के प्लेटफॉर्म यू-ट्यूब ने भी ट्रम्प का अकाउंट सस्पेंड कर दिया था। वहीं ट्वीटर तो ट्रम्प को हमेशा के लिए बैन कर चुका है। जनवरी में सोशल मीडिया कंपनियों की कार्रवाई के बाद भी ट्रम्प का जवाब आया था। उन्होंने कहा था कि अगली बार वे सोशल मीडिया कंपनियों के सीईओ को डिनर पर नहीं बुलाएंगे। ट्रम्प ने कहा था कि फेसबुक के CEO मार्क जुकरबर्ग और उनकी पत्नी के साथ अब व्हाइट हाउस में डिनर नहीं होगा। उनसे सिर्फ बिजनेस की बात होगी। इसके बाद जुकरबर्ग ने एक पोस्ट में कहा था कि राष्ट्रपति को हमारी सर्विसेज का इस्तेमाल करने देना इस वक्त एक बहुत बड़ा जोखिम है।

Must Read: भारत ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंदरगाह पर एलपीजी का जहाज से जहाज प्रचालन किया शुरू

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :