विश्व: नवीन ऊर्जा, कार ऊर्जा किफायत और कम प्रदूषण निकासी में मदद करेगी

नवीन ऊर्जा, कार ऊर्जा किफायत और कम प्रदूषण निकासी में मदद करेगी
News from CMG , China (24th. August).
बीजिंग, 24 अगस्त। आजकल वैश्विक मोटर वाहन उद्योग में बड़ा परिवर्तन हो रहा है। नए दौर की तकनीकी क्रांति से कार व्यवसाय का पुनर्गठन बढ़ा है। नई ऊर्जा, नई सामग्री, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और बिग डेटा आदि नई तकनीक के प्रयोग से कार व्यवसाय का इलेक्ट्रिक, बुद्धिमान और साझा विकास हो रहा है।

विश्व नवीन ऊर्जा वाहन सम्मेलन में (डब्ल्यूएनईवीसी) वैश्विक मोटर वाहन उद्योग के परिवर्तन व उन्नयन और पारिस्थितिक वातावरण में सुधार को ध्यान में रखकर विचार-विमर्श के जरिए नवीन ऊर्जा वाहन के विकास की चर्चा होती है।

पहला डब्ल्यूएनईवीसी वर्ष 2019 में दक्षिण चीन के हाईनान प्रांत में आयोजित हुआ था। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सम्मेलन को बधाई संदेश भेजा। शी चिनफिंग ने कहा कि नए दौर की तकनीकी क्रांति और औद्योगिक परिवर्तन के चलते नवीन ऊर्जा वाहन उद्योग का तेज विकास हो रहा है। इससे न सिर्फ विभिन्न देशों की आर्थिक वृद्धि में गतिज ऊर्जा डाली गई, बल्कि ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन कम करने, जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने और विश्व पारिस्थितिक वातावरण सुधारने में भी यह मददगार साबित होगा।

चीनी मोटर वाहन बाजार अनुसंधान संघ के आंकड़ों के अनुसार इस साल के पहले सात महीनों में चीन में नवीन ऊर्जा वाहन की बिक्री 27 लाख 33 हजार रही, जो पिछले साल के मुकाबले दो गुना से अधिक है। अनुमान है कि इस साल नवीन ऊर्जा कार की बिक्री 65 लाख से अधिक होगी। ऐसी स्थिति में चौथा डब्ल्यूएनईवीसी 26 से 28 अगस्त तक पेइचिंग और हाईनान में आयोजित हो रहा है। सम्मेलन में डिजिटल परिवर्तन में कार व्यवसाय के विकास पर चर्चा की जाएगी।

जैसा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा कि चीन हरित, कम कार्बन-उत्सर्जन और अनवरत विकास के रास्ते पर कायम रहता है। चीन अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ नवीन ऊर्जा वाहन के सृजन और विकास बढ़ाना चाहता है, ताकि स्वच्छ व सुंदर दुनिया का निर्माण और मानव समुदाय के साझे भविष्य का निर्माण बढ़ाने में ज्यादा योगदान किया जाए। ऐसे में विभिन्न देशों के लोगों को नवाचार और प्रौद्योगिकी विकास की उपलब्धियों से ज्यादा लाभ मिलेगा।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

एएनएम

Must Read: उत्तर कोरिया ने नए वायरस के प्रति सतर्क रहने का किया आग्रह

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :