America और यूरोप में कोरोना के हाल खराब: Corona से यूरोप और अमेरिका में हालात बेकाबू, विश्व में 1 दिन में आ रहे है 26 लाख केस, अब ओमिक्रॉन बढ़ा रहा है चिंता

विदेशों में कोरोना के हालात बद से बदतर होते जा रहे है। अमेरिका, यूरोप के बाद अब भारत में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ना शुरू हो गए। दुनियाभर में 24 घंटे के दौरान 27 लाख नए केस दर्ज किए गए। यह आंकड़ा दुनियाभर के लिए चिंताजनक है। यहीं ही नहीं, 24 घंटे में दुनियाभर में 6369 लोगों की मौत भी हुई।

Corona से यूरोप और अमेरिका में हालात बेकाबू, विश्व में 1 दिन में आ रहे है 26 लाख केस, अब ओमिक्रॉन बढ़ा रहा है चिंता

नई दिल्ली, एजेंसी। 
विदेशों में कोरोना के हालात बद से बदतर होते जा रहे है। अमेरिका, यूरोप के बाद अब भारत में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ना शुरू हो गए। दुनियाभर में 24 घंटे के दौरान 27 लाख नए केस दर्ज किए गए। यह आंकड़ा दुनियाभर के लिए चिंताजनक है। यहीं ही नहीं, 24 घंटे में दुनियाभर में 6369 लोगों की मौत भी हुई।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक सर्वाधिक केस अमेरिका में सामने आ रहे है। अमेरिका में पिछले 24 घंटों में 8.49 लाख नए कोरोना के केस सामने आए है। जबकि फ्रांस में कोरोना के 3.28 लाख, ब्रिटेन में 1.78 लाख और भारत में 1.14 लाख केस सामने आए है। इनके अलावा स्पेन, अर्जेंटीना, इटली जैसे देशों में भी एक लाख से अधिक संक्रमित सामने आ रहे हैै। 
फिलीपींस में कोरोना दिन ब दिन न​ए रिकॉर्ड बना रहा है। यहां संक्रमितों की संख्या 26 हजार एक दिन में सामने आए है। हॉन्गकॉन्ग में तो एक जन्मदिन की पार्टी में शामिल 170 लोगों में से 2 लोग पॉजिटिव आने पर प्रशासन ने पार्टी में शामिल 13 अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश जारी कर दिए। 
भारत में फरवरी में तीसरी लहर
विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ ही अमेरिका के स्वास्थ्य विशेषज्ञ भारत में तीसरी लहर की चेतावनी दे रहे है। इनके मुताबिक भारत में फरवरी में कोरोना की तीसरी लहर पीक पर रहेगी। ऐसा अनुमान बताया जा रहा है कि भारत में फरवरी तक 5 लाख लोग प्रतिदिन संक्रमित आएंगे।

वहीं दूसरी ओर विशेषज्ञ यह भी कह रहे है कि ओमिक्रॉन कोरोना के डेल्टा से ज्यादा खतरनाक नहीं है। स्वास्थ्य रिपोर्ट के मुताबिक ​दुनिया भर में 30 करोड़ कोविड पेशेंट्स् सामने आ गए। इनमें 10 करोड़ तो केवल पांच माह में सामने आए है। विदेशों में आस्ट्रेलिया, फ्रांस और अमेरिका में मरीजों की रिकॉर्ड बढ़ोतरी हो रही है।

ब्रिटिश अधिकारियों की माने तो कोरोना की तीसरी डोज ओमिक्रॉन के लिए पूर्ण रूप से प्रभावी है। इस बूस्टर डोज से बुुजुर्गों को लाभ होगा। अमेरिका जैसे देश में औसतन सात लाख केस रोजाना सामने आने लगे। इससे वहां का प्रशासनिक स्ट्रक्चर कमजोर होने लग गया। 

Must Read: भारतीय अमरूद के निर्यात में जोरदार उछाल, वर्ष 2013 से लेकर अब तक 260 फीसदी की वृद्धि दर्ज

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :