महंगाई से राहत पर संवाददाता सम्मेलन: गहलोत सरकार ने दी है आम जनता को महंगाई से राहत

आईटी का इस्तेमाल करते हुए प्रत्येक पात्र व्यक्ति को उनकी पात्रता के अनुसार ही बिना आवेदन किए सामाजिक सुरक्षा पेंशन, सभी जरूरी सरकारी प्रमाण पत्र उपलब्ध करवाए जाएंगे. साथ ही, पात्रता के अनुसार स्वतरू ही सरकारी योजनाओं का लाभ सुनिश्चित होगा। सामाजिक सुरक्षा के लिए महात्मा गांधी मिनिमम गारंटी इनकम स्कीम लाई जाएगी.

गहलोत सरकार ने दी है आम जनता को महंगाई से राहत
mahendra choudhary on gas cylinder press conference in sirohi rajasthan with sanyam lodha

सिरोही | महंगाई से राहत पर जिला प्रभारी मंत्री द्वारा संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया गया। इस क्रम में सिरोही के प्रभारी मंत्री महेन्द्र चौधरी एवं मुख्यमंत्री सलाहकार एवं विधायक संयम लोढा ने सिरोही सर्किट हाउस में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया।

प्रभारी मंत्री महेन्द्र चैधरी हुए मीडिया से रूबरू
प्रभारी मंत्री महेन्द्र चौधरी ने संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अथक प्रयासों से इस साल का बजट बचत, राहत, बढ़त वाला रहा है. यानी आमजन को पैसे की बचत होगी, उन्हें महंगाई से राहत मिलेगी और राजस्थान आगे बढ़ेगा।

इसी प्रबंधन की बदौलत हमारी आर्थिक विकास दर 11.04 प्रतिशत है जिसके कारण राज्य तेजी से बढ़ रहा है । उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार की नीतियों ने भारत की अर्थव्यवस्था को चैपट कर दिया है. इससे महंगाई और बेरोजगारी लगातार बढ़ती जा रही है। पेट्रोल, डीजल, गैस, सब्जी, दवाइयां, तेल, मसाले, कपड़े, जूते, सीमेंट समेत आम आदमी की जरूरत की सभी चीजें लगातार महंगी होती जा रही हैं।

गरीब और मिडिल क्लास परिवारों के सामने आज घर चलाना एक बड़ी चुनौती बन गया है। बचत के लिए तमाम योजनाएं लाई जा रही हैं जिससे आमजन के पास पैसा आए और बचत करने का मौका हो।

प्रभारी मंत्री ने बताया कि हर परिवार को 25 लाख रुपये का चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा एवं 10 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा। 30,000 बच्चों को कोचिंग लेने पर अनुप्रति कोचिंग योजना के माध्यम से पूरी फीस सरकार द्वारा वहन की जाएगी । 500 बच्चों के विदेश में पढ़ाई करने पर पूरी फीस राजीव गांधी स्कॉलर्शिप द्वारा सरकार वहन करेगी। मनरेगा एवं इन्दिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना में 125 दिन काम मिलेगा।

इन्दिरा रसोई में 8 रुपये में भोजन उपलब्ध करवाया जा रहा है. अब 1000 नई इन्दिरा रसोई खोली जाएंगी जो शहरी कस्बों में भी खुलेंगी। ठेके पर अब कोई कर्मचारी नहीं रखे जाएंगे. जो ठेके पर हैं उन्हें सरकारी कंपनी के तहत काम में लिया जाएगा। पार्ट टाइम मानदेय कर्मियों जैसे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, कुक, फर्राश आदि को रिटायरमेंट पर 2-3 लाख रुपये का पैकेज दिया जाएगा।

कामधेनु पशु बीमा योजना में 40,000 रुपये का बीमा हर परिवार में 2 दुधारू पशुओं को दिया जाएगा। राज्य सरकार के कार्मिकों के साथ बोर्ड, निगम, सरकारी कंपनियों एवं विश्वविद्यालय के कार्मिकों को भी ओल्ड पेंशन स्कीम का लाभ मिलेगा।  अब पहली से 12वीं क्लास तक आरटीई के तहत प्राइवेट स्कूलों में फ्री शिक्षा मिलेगी।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि महंगाई से राहत देने के लिए इस बजट में 19,000 करोड़ रुपये का पैकेज दिया गया है। गरीब परिवारों को महंगाई से राहत देने के लिए प्रत्येक एनएफएसए परिवार को फ्री गेहूं के साथ एक किलो दाल, चीनी, नमक, खाद्य तेल एवं मसाले निशुल्क दिए जाएंगे। प्रत्येक उज्ज्वला परिवार को गैस सिलेंडर 500 रुपये में उपलब्ध करवाया जाएगा।

सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 100 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी। किसानों को हर महीने 2000 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी. यानी 15 एचपी  तक के बिल फ्री।  बुजुर्गों, विधवाओं, अनाथों एवं दिव्यांगों की न्यूनतम पेंशन 1000 रुपये की जाएगी। लम्पी महामारी से मारी गईं दुधारों गायों के लिए 40,000 रुपये प्रति गाय दिए जाएंगे।

सरकारी भर्तियों के लिए युवाओं द्वारा एक बार रजिस्ट्रेशन करवाने के पश्चात भविष्य में कोई भी परीक्षा शुल्क नहीं लिया जाएगा।

प्रभारी मंत्री ने आगे बताया कि बढ़त के लिए ऐसी योजनाएं बनाई गई हैं जिनसे राजस्थान आगे बढ़ता जाएगा। एक लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी जाएगी। युवाओं के लिए हर ब्लॉक पर सावित्रीबाई फुले रीडिंग रूम एवं डिजिटल लाइब्रेरी शुरू की जाएंगी। 1000 नए महात्मा गांधी राजकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले जाएंगे।

5 नई यूनिवर्सिटी, 3 नए मेडिकल कॉलेज, 44 नए कॉलेज, 27 नए महिला कॉलेज, 2 पशु चिकित्सा कॉलेज, 7 एग्रीकल्चर कॉलेज एवं एक हॉर्टिकल्चर कॉलेज खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री युवा उद्योग प्रोत्साहन योजना में 10 एवं 15 प्रतिशत मार्जिन मनी दी जाएगी। स्टार्ट अप्स व उद्योगों के लिए 250 करोड़ रुपये का राजस्थान वेंचर कैपिटल फंड बनाया जाएगा।

जोमैटो, स्विगी, ऊबर, ओला जैसी इंटरनेट आधारित कंपनियों में कार्य करने वाले गिग वर्कर्स को शोषण से बचाने के लिए गिग वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड एवं 200 करोड़ रुपये का गिग वर्कर्स वेलफेयर फंड बनाया जाएगा. इसके लिए गिग वर्कर्स वेलफेयर एक्ट लाया जाएगा।

आईटी का इस्तेमाल करते हुए प्रत्येक पात्र व्यक्ति को उनकी पात्रता के अनुसार ही बिना आवेदन किए सामाजिक सुरक्षा पेंशन, सभी जरूरी सरकारी प्रमाण पत्र उपलब्ध करवाए जाएंगे. साथ ही, पात्रता के अनुसार स्वतरू ही सरकारी योजनाओं का लाभ सुनिश्चित होगा। सामाजिक सुरक्षा के लिए महात्मा गांधी मिनिमम गारंटी इनकम स्कीम लाई जाएगी जिसमें मनरेगा, इन्दिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना में सभी जरूरतमंदों को रोजगार सुनिश्चित होगा एवं आयु या दिव्यांग होने के कारण काम नहीं कर पाने पर न्यूनतम 1000 रुपये सोशल सिक्योरिटी पेंशन दी जाएगी।

राजस्थान में सभी कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ दिया जा रहा है। निर्मला सीतारमण ने जयपुर में आकर कहा कि ओपीएस बन्द कर देनी चाहिए। केन्द्र सरकार एनपीएस में जमा पैसा वापस नहीं करेगी। राजस्थान में 621 पेंशनर्स व उनके परिवारों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ दे दिया गया है। बजट में ईआरसीपी के लिए 13,500 करोड़ रुपये रखे गए हैं।

पहले केन्द्र सरकार ने चिट्ठी लिखकर काम रोकने को कहा था। अब मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर काम रोकने का प्रयास किया है।

प्रभारी मंत्री ने सिरोही जिले के लिए वर्तमान सरकार की उपलब्धियां, सिरोही जिले में प्रगतिरत मुख्य परियोजनाएं एवं वर्ष 2023-24 की बजट घोषणा में सिरोही जिले के लिए स्वीकृत कार्यो के बारें में विस्तृत रूप से जानकारी दी।

विधायक संयम लोढा ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान जिले के लम्बित प्रकरणों के बारें में जानकारी लेकर संबधित अधिकारियों को त्वरित निस्तारण के लिए कहा। संवाददाता सम्मेलन में जिला कलक्टर डाॅ भंवर लाल , जिला पुलिस अधीक्षक ममता गुप्ता, अति. जिला कलक्टर कालूराम खौड समेत संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहें।

Must Read: जहां धधकने वाले सिलैण्डरों का जमावड़ा, वहीं भविष्य संवारने के लिए किताबें खोल रही छात्राएं

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :